नैनो उर्वरक, यानी Nano Fertilizers के इस्तेमाल से कैसे जीरे की खेती में वरदान साबित हो रहा है, इस पर जानकारी प्राप्त करें

फसलों और पौधों के विकास में उर्वरकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, लेकिन रासायनिक उर्वरक मिट्टी और फसल की गुणवत्ता के लिए अच्छे नहीं होते। इसलिए, जैविक उर्वरकों को प्राथमिकता दी जा रही है। नैनो उर्वरक भी एक प्रकार का जैविक उर्वरक है, जिससे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होता और फसल उत्पादन में सुधार होता है।

नाइट्रोजन, जिंक, और कॉपर किसी भी फसल के उत्तम विकास के लिए आवश्यक होते हैं।

#cumin, #cumincultivation, #cuminfarming, #nanofertilizers

https://www.kisanofindia.com/a....griculture-technolog